How to Prepare Electro homeopathic dilution in Decimal scale इलेक्ट्रो होम्योपैथी के डायलूसन डेसीमल स्केल और सेंटिसिमल स्केल में बनाना

How to Prepare Electro homeopathic dilution in Decimal scale इलेक्ट्रो होम्योपैथी के डायलूसन डेसीमल स्केल में बनाना

How to Prepare Electro homeopathic dilution in Decimal scale and Centicimal इलेक्ट्रो होम्योपैथी के डायलूसन डेसीमल स्केल सेंटिसिमल में बनाना (डेसीमल स्केल का वर्णन)

काफी दिनों से लोगों की मांग थी कि डाइल्यूशन पर कोई लेख लिखा जाए या वीडियो बनाया जाए।  मेरी डाइल्यूशन पर एक बुक आएगी जो "इलेक्ट्रो होम्योपैथी की वास्तविक बिजलियां " के बाद में पब्लिश की जाएगी उसमें कोहोबेशन और डायलूशन का विस्तृत वर्णन होगा 

डायलूशन कई प्रकार के होते हैं और सभी डायलूशन ट्रीटमेंट के लिए ही प्रयोग किए जाते हैं हर डाइल्यूशन की अपनी क्यूरिसिटी होती है ।


(1) डेसेमिल D.H. स्केल (दसमलव माप)

(2) हाफ सेंटेसीमल M स्केल (अर्धशतक माप)

(3) सेंटेंसीमल C स्केल (शतक माप)

(4) 50 मिलसेमल स्केल (50 हजार की माप)

इन सभी डायलूशनों में  क्यूरेटिव पावर होती है लेकिन अधिकांश लोगों को डाइल्यूशन बनाने की जानकारी न होने के कारण केवल डेसिमल और हाफ सेंटेसीमल स्केल ही  इलेक्ट्रो होम्योपैथी में बहुत चर्चित है ।
यहां हम केवल डेसिमल स्केल की ही चर्चा करेंगे क्योंकि वही सबसे ज्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं ।

डेसिमिल स्केल Decimal Scale

यह स्केल होम्योपैथी के Dr C.Hering ने बनाया था यह जर्मन फिजिशियन थे। यह स्केल होम्योपैथी और बायोकैमिक में इस्तेमाल होता है । इस स्केल में 1 : 9 के अनुपात से दवाइयां तैयार की जाती हैं इसमें ड्रग स्टैंड  1 / 10  होता है।


इलेक्ट्रो होम्योपैथी में डायलूशन बनाने विधि

सबसे पहले अलग-अलग पौधों का शीत कषाय द्वारा कलर फुल अर्क निकाल लेते हैं फिर अलग-अलग पौधौ के अर्क का कोहोबेशन कर कलर लेस  अर्क 38 ℃ पर निकाल लेते हैं । फिर--------


(1) इन निकाले गए कलर लेस अर्क (स्पैजिरिक) को मेडिसिन के फार्मूले के अनुसार आपस में मिला लेते हैं इस मिश्रण को  C.C.S. (काम्प्लेक्स  कन्सेन्ट्रेट स्पेजिरिक) कहते हैं।


(2) C.C. S. एक बार पुनः 1:9 के अनुपात में डायलूट कर लेते है । इसे डिस्टल वाटर में भी कर सकते हैं और अल्कोहल में भी कर सकते हैं अपनी सुविधा के अनुसार डायलूट करें । इस मिश्रण को C. D. S ( काम्प्लेक्स  डायलूट स्पेजिरिक) कहते हैं।


(3) अब C. D. S. से 1 : 9 के अनुपात से डाइल्यूशन बनाना शुरू करते हैं । इसका पहला डाइल्यूशन D1, दूसरा D2 , तीसरा D3, चौथा D4--------- आदि बनता जाएगा ।

इन डायलूशनों में औषधि की मात्रा निम्न प्रकार से होती है:-


डायलूशनडायलूशन में औषधि की मात्रा
D10.1
D20.01
D30.001
D40.0001
D50.00001
D60.000001
D70.0000001
D80.00000001
D90.000000001
D100.0000000001

डायलूशन बनाना (हाफ सेंटी. स्केल का वर्णन)

प्रस्तुत लेख से पहले मैंने डिसिमल स्केल पर एक लेख लिखा था जिसमें इस बात को दर्शाया गया था कि यह स्केल होम्योपैथी के एक डॉक्टर ने होम्योपैथी की दवाओं के लिए तैयार किया था ।

काउन्ट सीजर मैटी के समय में डा0 सैमुअल हनीमैन के स्केल के साथ यह स्केल भी होम्योपैथी में चल रहा था।

काउंट सीजर मैटी की दवाएं होम्योपैथी की दवाओं से अलग थी लेकिन उस समय भी उनकी दवाओं को आजकल की तरह ही लोग होम्योपैथी ही समझते थे। इसलिए काउंट सीजर मैटी ने सोचा यदि वहीं स्केल रखा जाएगा तो लोग इसे पूरी तरीके से होम्योपैथी ही समझ बैठेंगे। इसलिए उन्होंने बीच का रास्ता चुना और सैमुअल हैनीमैन के सेंटेसीमल  स्केल के आस पास ही अपना स्केल तैयार किया यह स्केल  1 : 47 का था। जो  आज हाफ सेंटीसीमल स्केल  कहा जाता है।

इस स्केल से डायलूशन बनाने की विधि बिल्कुल डिसेमल स्केल की तरीके से ही है। केवल  जहां 1:9  होता है इसमें 1:49 का आधुनिक स्केल लिखा जाता  है। 1 : 49 के स्केल से बने हुए डायलूशन  में औषधीय तत्व की  मात्रा निम्न प्रकार से होती है:-----

ड्रग स्टैंथ 1/50

डायलूशनडायलूशन में औषधि की मात्रा
D10.02
D20.0004
D30.000008
D40.00000016
D50.0000000032

Yellow Box

(1) डा0 सैमुअल हैनीमैन के इतिहास में हमें कहीं नहीं मिला कि उन्होंने शुरुआती दौर में 1:99 का अनुपात रखा था । हमें लगता है उस समय F.P.S सिस्टम चलता था जिसमें 1:47 का अनुपात ही सबसे अच्छा अनुपात था ।

(2) हमें ऐसा लगता है कि C.G.S.सिस्टम के बाद में लोगों ने 1:99 का अनुपात तैयार किया है।

(3) पुरानी पुस्तकों का अध्ययन करने से पता चलता है की सैमुअल हैनीमैन भी सीजर मैटी की तरह बूंदों का प्रयोग करते थे। बाद में लोगों ने ml Gram आदि जोड़ दिया है ।

इलेक्ट्रो होम्योपैथी की वास्तविक बिजलियां पुस्तक खरीदें #7355422261

नोट: इस तरीके का वर्णन हमारी आने वाली पुस्तक में भी मिलेगा

लेख से संबंधित अगर कोई प्रश्न है तो नीचे कमेंट बॉक्स उपलब्ध है अपना कॉमेंट अवश्य करें।


Dr.Ashok Kumar Maurya
Written By
Dr. Ashok kumar maurya
Electro homeopathic practitionar,  
Spagyric research lab, Lucknow

6 comments

  1. Guru ji chart me di gai matra ml me hai kya
    1. Ji ha chart me di gai matra ml me hai.
  2. सर बहुत ही लाजबाब जानकारी दिया है इलेक्ट्रो होम्योपैथी जगत में आपका योगदान सराहनीय है जय हो इलेक्ट्रो होम्योपैथी की
  3. Informative article, thanks
  4. सर औषधी की दी गई मात्रा ml में है या drops. में ?
    1. सरजी औषधि की मात्रा ml में ही दी गई है।
Please donot enter any spam link in the comment box.