Electro homeopathic treatment of Bronchitis ब्रोंकाइटिस का इलेक्ट्रो होम्योपैथी उपचार

ब्रोंकाइटिस का इलेक्ट्रो होम्योपैथी उपचार Electro homeopathic treatment of Bronchitis
ब्रोंकाइटिस  का इलेक्ट्रो होम्योपैथी उपचार Electro homeopathic treatment of Bronchitis

Click here to Join» WhatsApp  Telegram 

ब्रोंकाइटिस Bronchitis एक गले से संबंधित समस्या है जिसमें श्वास नालियां (ब्रोन्कियल ट्यूब्स) नाक व फेफड़ों के बीच के हवा के मार्ग सूज जाते हैं इसलिए ब्रोंकाइटिस के मरीज को फेफड़ों में हवा और ऑक्सीजन लेने की क्षमता कम हो जाती है ब्रोंकाइटिस की समस्या वायरस, बैक्टीरिया, धूम्रपान, धूल में सांस लेने के कारण या रासायनिक प्रदूषण के कारण हो सकते हैं।

ब्रोंकाइटिस की समस्या दो प्रकार की होती है।
एक्यूट ब्रोंकाइटिस और क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस


एक्यूट ब्रोंकाइटिस

इस प्रकार की ब्रोंकाइटिस सामान्यता 7 से 10 दिनों में खत्म हो जाती है एक्यूट ब्रोंकाइटिस में गले के पिछले हिस्से में बलगम के उत्पादन के साथ या उसके बिना खांसी या उत्तेजना होती है यह समस्या बैक्टीरिया के संक्रमण या प्रदूषित वायु या रासायनिक धुआं द्वारा स्वसन नाली की लगातार उत्तेजना से सर्दी अपनों के बाद होता है इसमें बुखार भी हो सकता है

क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस

क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस की समस्या में यह समस्या एक गंभीर रूप ले लेती है जिसमें सांस लेने में कठिनाई एवं शारीरिक थकावट हो सकती है और मरीज को कृत्रिम ऑक्सीजन की आवश्यकता भी हो सकती है। ब्रोंकाइल में चोट के कारण समस्या से निजात पाने में काफी समय लगता है।

ब्रोंकाइटिस के लक्षण 

 ● खांसी जो बलगम का उत्पादन करती है और जिस में थूक के साथ खून भी आ सकता है।

 ● नाक में जमावट या नाक का बहना
 
 ● बुखार 

 ● शरीर में दर्द

 ● गले में खराश 

 ● गले में कुछ फंसा हुआ महसूस होना

 ● सांस लेते समय खराहट 

 ● सर दर्द होना 

 ● टखने, और पैर की सूजन 

 ● थोड़े से परिश्रम में ही सांस लेने में तकलीफ होना

ब्रोंकाइटिस के कारण 

वायरल संक्रमण के कारण बैक्टीरियल ब्रोंकाइटिस हो सकता है। 

बैक्टीरिया का संक्रमण कई मामलों में ब्रोंकाइटिस के वायरस संक्रमण के बाद बैक्टीरियल ब्रोंकाइटिस हो सकता है 

या माइकोप्लाज्मा निमोने, क्लैमाइडिया, निमोनिया और बोर्डेटेला पेरटसिस जैसे बैक्टीरिया के कारण हो सकता है।
 
उत्तेजक पदार्थ जैसे धुआं या रासायनिक धुआं में सांस लेने से

ब्रोंकाइटिस में इलेक्ट्रो होम्योपैथी चिकित्सा

S10 P4 Ver1 BE ― D10 दिन में 4-6 बार

P2 C5 BE ― D4 तेल में मिक्स करके सीने की मालिश करें।

इलेक्ट्रो होम्योपैथी संबंधी पोस्ट की सूचना पाने के लिए व्हाट्सएप्प एवं टेलीग्राम ग्रुप जॉइन करें नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें।
Join Whatsapp & Telegram Group for get notification of new Post
नमस्कार इलेक्ट्रो होम्योपैथी के इस मंच में आप सभी का स्वागत है। अस्वीकरण: इस साइट पर उपलब्ध सभी इलेक्ट्रो-होम्योपैथी, आयुर्वेद, होम्योपैथी संबंधी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। कि…

Post a Comment

Please donot enter any spam link in the comment box.