Header Ads

वनस्पतियों के एकत्र करने का उपयुक्त समय

इलेक्ट्रो होम्योपैथी में औषधियों के निर्माण के लिए केवल वनस्पतियों का प्रयोग किया जाता है।  वनस्पतियां हर समय उपलब्ध नहीं होती है। इसलिए उन्हें उपयुक्त समय पर एकत्र का सुरक्षित रख लेते हैं। वनस्पतियों को एकत्र करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखते हैं कि पौधों के किस भाग में किस समय औषधीय पदार्थ अधिक मात्रा में कहां उपलब्ध होता है। इसी समय उसे एकत्र कर संग्रहित करते हैं।


(1) पंचांग या संपूर्ण पौधा 
     --------------------------
          पंचांग का अर्थ है जड़, तना, पत्ती, फल, फूल। इसी को संपूर्ण पौधा कहा जाता है। जब पौधा स्वस्थ तरुण और फूल कुछ-कुछ आने लगे हो उसी समय उसको एकत्र कर लेना चाहिए क्योंकि उस समय उसमें  औषधीय गुण सबसे अधिक होंगे।

(2) पुष्पों को एकत्र करना
      ---------------------------
            पुष्पों को एकत्र करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि पुष्प पूरी तरीके से खिला हुआ न हो , आधा खिला हो उस समय उसमें औषधि गुण भरपूर होंगे या फूल खिले हुए अधिक समय न हुआ हो

(3) पत्तियों को एकत्र करना
      ---------------------------
            पूर्ण विकसित स्वस्थ पौधे की पत्तियां फूल आने के समय एकत्र करना चाहिए और उन्हें छाया में सुखाकर संग्रहित करना चाहिए।

(4) छाल एकत्र करना
     ----------------------
              छाल को समय एकत्र करना चाहिए जिस समय पौधा तरुणाई की अवस्था में हो और उस पर फूल आने वाले हो या खिले हुए हो । हाल निकालकर छाया में सुखा लेना चाहिए।

(5) काठ या लकड़ी एकत्र करना
      ----------------------------------
            जिस समय बसंत ऋतु चल रही हो या आने वाली हो  तना स्वस्थ हरा भरा तरुण अवस्था में हो कुछ परिस्थितियों को छोड़कर किसी समय एकत्र करना चाहिए लेकिन कुछ लकड़ियां उस समय एकत्र की जाती हैं जब तना परिपक्व हो जाता है लकड़ी पक जाती है वह समय एकत्र की जाती है।

(6) फल तथा बीज
      -----------------
         फल तथा बीज उस समय एकत्र करना उचित होता है जब फल पूर्णता पक चुके हो। लेकिन कुछ फल ऐसे भी होते हैं जो पके हुए नहीं कच्चे ही एकत्र कर लिए जाते हैं।

(7)  जड़ एकत्र करना
      ---------------------
   (अ) एक वर्षीय पौधे की जड़
          -----------------------------
          इसे पौधा नष्ट होने से पहले बीजों के पकने के बाद एकत्र कर लेना चाहिए।

   (ब) 2 वर्षीय पौधे की जड़ एकत्र करना
        -------------------------------------------
                इस तरह के पौधे की जड़ पौधे के दूसरे वर्ष बसंत ऋतु में एकत्र करनी चाहिए।

     (द) बहु वर्षीय पौधों की जड़
          ------------------------------
                  किस प्रकार के पौधों की जड़ उस समय कद्र करनी चाहिए यह समय पौधा तरुण अवस्था में हूं और उडी फाइबर (Woody fibres ) उत्पन्न न हुआ हो।

नोट:----

(1) जहां तक हो सके वनस्पतियों को शुष्क मौसम में एकत्र करना चाहिए।

(2) वनस्पतियों को एकत्र करते समय यह ध्यान रखना चाहिए की वनस्पति पर किसी प्रकार के कीटनाशक औषधियों का छिड़काव न किया गया हो।

(3) कीट लगी हुई वनस्पतियों को नहीं एकत्र करनी चाहिए।

No comments

Please donot enter any spam link in the comment box.

Powered by Blogger.