इलेक्ट्रो-होमियोपैथी और गुनगुना पानी

Water and electro homeopathy

इलेक्ट्रो-होमियोपैथी और गुनगुना पानी

आप सभी EHP डा० आप सभी रोगी को औषधि गुनगुने पानी के साथ उपयोग करने की सलाह देते हैं। 


 चिकित्सक भाइयों वैसे तो गुनगुने पानी में स्वतः से ही औषधीय गुण विद्धमान होते हैं, और हमारी सभी इलेक्ट्रो-होमियोपैथिक औषधि क्योकि पानी में डायल्यूट करके ही रोगी को उपयोग के लिए दी जाती है जिसका सीधा सीधा इफेक्ट लार ग्रन्थियों के माध्यम से त्वरित गति से रोग ग्रस्त मनुष्य के शरीर में होने लगता है।


 डॉ साहब जैसा कि हम सब जानते हैं। 

 जल जीवन है,जल अमृत है। पानी के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते है। पानी से हमारे शरीर की बहुत सी बीमारियाँ दूर होती है,गुनगुना पानी एक प्राकृतिक औषधि की तरह से है जो हमारे स्वास्थ व सौन्दर्य दोनों के लिए लाभकारी है। 
 हम गुनगुने पानी से शरीर की छोटी मोटी बीमारी का इलाज जल चिकित्सा के आधार पर आसानी से घर पर ही कई प्रकार से करते हैं।
 आपने न जाने कितनी बार अन्य डॉक्टर व डाइटीशियन से सुना होगा वो हमेशा हमें सुबह उठने के बाद व रात को सोने से पहले गुनगुने पानी पीने की सलाह देते है।


 जैसा कि हम सब जानते हैं कि हमारे शरीर में 70 % पानी होता है,पानी की कमी से बहुत सी बीमारियाँ उभरने लगती है.हमें भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए और अपने शरीर की पानी की कमी को पूरा करना चाहिए. गुनगुना पानी एक ऐसा इलाज है जिसे हम जब चाहें जहाँ चाहें उपयोग कर सकते है। 

 हम ऐसा भी कह सकते हैं। इलेक्ट्रो-होमियोथिक औषधि के साथ गुनगुना पानी मिलकर इलेक्ट्रो-होमियोथिक औषधि सिर्फ औषधि न रहकर अमृत बन जाती है। 


 आयोडिन नमक को छोड़ सेंघा नमक प्रयोग करे। सेंघा नमक को दुर कर दिया गया है। सेंघा नमक से शरीर के अन्दर के विषैले पदार्थ को बाहर निकाल देता है।
लेख:डा० सी पी सिंह , इलेक्ट्रो-होम्यो पैथिक फिजिशयन,
नई दिल्ली

Post a Comment

Please donot enter any spam link in the comment box.